चेन्नई वनडे जीतने के बाद वेस्टइंडीज पर लगा जुर्माना, जानिए वजह

Spread the love

चेन्नई
वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों पर भारत के खिलाफ पहले इंटरनेशनल वनडे मैच के दौरान धीमी ओवर गति के लिए मैच शुल्क का 80 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है। आईसीसी मैच रेफरी डेविड बून ने निर्धारित समय के दौरान चार ओवर कम करने के कारण कीरोन पोलार्ड की टीम पर यह जुर्माना लगाया। वेस्टइंडीज ने यह मैच आठ विकेट से जीतकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है। सीरीज का दूसरा मैच 18 दिसंबर को विशाखापट्टनम में खेला जाएगा।
 
आईसीसी ने बयान में कहा, ''आईसीसी की खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ के लिए आचार संहिता के अनुच्छेद 2.22 के अनुसार टीम के निर्धारित समय में ओवर पूरे नहीं करने की स्थिति में खिलाड़ियों पर प्रति ओवर की दर से उनके मैच शुल्क का 20 प्रतिशत जुर्माना लगाया जाएगा। इस तरह से उसके प्रत्येक खिलाड़ी पर मैच शुल्क का 80 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया। यह अनुच्छेद धीमी ओवर गति से जुड़ा है।''

वेस्टइंडीज के कप्तान पोलार्ड ने मैच समाप्त होने के बाद अपनी गलती और प्रस्तावित जुर्माना स्वीकार कर लिया था, इसलिए इस मामले की सुनवाई नहीं होगी। मैदानी अंपायर नितिन मेनन और शॉन जार्ज, तीसरे अंपायर रोडनी टकर और चौथे अंपायर अनिल चौधरी ने यह आरोप लगाए थे।

बता दें कि शिमरोन हेटमायेर (139) और शाए होप (नाबाद 102) के शानदार शतकों की मदद से वेस्टइंडीज ने रविवार को यहां एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए पहले वनडे मैच में मेजबान भारत को आठ विकेट से करारी मात देकर तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली।

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 287 रन का स्कोर बनाया, जिसे वेस्टइंडीज ने 47.5 ओवर में दो विकेट खोकर हासिल कर लिया। शिमरोन हेटमायर ने 106 गेंदों पर 11 चौके और सात छक्के लगाए। शाई होप ने 151 गेंदों पर सात चौके और एक छक्का लगाया। सुनील एम्ब्रिस ने नौ और निकोलस पूरन ने 23 गेंदों पर चार चौकों की मदद से नाबाद 29 रनों का योगदान दिया।

हेटमायर और होप ने दूसरे विकेट के लिए रिकॉर्ड 218 रनों की साझेदारी की। भारत की ओर से दीपक चहर और मोहम्मद शमी को एक-एक विकेट मिला।