ओलंपिक में किसी भी वेन्यू पर 10 हजार फैंस को प्रवेश , विदेशी को अनुमति नहीं

Spread the love

टोक्यो
जापान के आयोजकों ने आगामी टोक्यो ओलंपिक खेलों के दौरान सभी स्थलों पर दर्शकों की सीमा तय करते हुए स्टेडियम की क्षमता के 50 प्रतिशत लोगों को स्थल पर पहुंचे की स्वीकृति दी है. किसी भी वेन्यू पर हालांकि 10 हजार से अधिक दर्शकों को प्रवेश की अनुमति नहीं होगी. ओलंपिक खेलों का आयोजन 23 जुलाई से किया जाएग. कोरोना वायरस महामारी के कारण पिछले साल इन खेलों को स्थगित किया गया था.

एक ऑनलाइन बैठक के दौरान अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थॉमस बाक और टोक्यो सरकार सहित पांच आयोजन निकायों के प्रतिनिधियों ने दर्शकों की सीमा पर एक नीति को अंतिम रूप दिया. हालांकि, उनसे अपेक्षा की जाती है कि 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक से पहले या बाद में संक्रमण की स्थिति बिगड़ने की स्थिति में दर्शकों के बिना खेल आयोजित करने का विकल्प खुला छोड़ दें. इस दौरान वहीं जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने कहा है कि दर्शकों को लेकर फैसला बदला जा सकता है, ओलंपिक गेम्स खाली स्टेडियम में भी कराए जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि परिस्थितियों को देखकर इस पर आखिरी फैसला लिया जाएगा.

विदेशी फैंस को आने की अनुमति नहीं होगी

हालांकि आयाेजकों की ओर से विदेशी फैंस को आने की अनुमति नहीं दी गई है. सिर्फ जापान के लोग ही स्टेडियम जा सकेंगे. कुल 3.7 मिलियन टिकट लोगों को बेचे जाएंगे. टोक्यो सहित कई शहरों में 11 जुलाई तक इमरजेंसी लगी गई है. जापान के अधिकतर लोग कोरोना के बीच गेम्स के आयोजन का विरोध कर रहे हैं. उनका मानना है कि इससे संक्रमण बढ़ने की संभावना है.
6.5 फीसदी जनसंख्या को दोनों टीके लग गए हैं

पीएम ऑफिस से मिली जानकारी जापान के 6.5 फीसदी लोगों को कोरोना के दोनों टीके लग चुके हैं. वहीं 16.5 फीसदी लोगों को कम से कम एक टीका लगा है. जापान में अब तक 14 हजार लोगों की मौत हुई है. कोरोना के कारण सभी देश के एथलीट टीके साथ यहां जाएंगे. हालांकि उन्हें इवेंट शुरू होने के तीन दिन पहले ही आने की अनुमति मिलेगी. ऐसे में इस बार खिलाड़ी अलग-अलग समय में आएंगे.