यूरो कप के नॉकआउट में ऑस्ट्रिया पहली बार

Spread the love

बुखारेस्ट
 क्रिस्टोफ बामगार्टनर के एकमात्र गोल की मदद से ऑस्ट्रिया ने सोमवार को ग्रुप-सी में यूक्रेन को 1-0 से हराकर पहली बार यूरो कप के नॉकआउट में जगह बनाई। नॉकआउट में पहुंचने के लिए दोनों टीमों को अगर-मगर की स्थिति से बचने के लिए सिर्फ जीत दर्ज करने की जरूरत थी और इसमें ऑस्ट्रिया कामयाब रहा। ऑस्ट्रिया के कोच फ्रैंको फोडा ने पिछले मैच में नीदरलैंड्स से मिली हार के बाद यूक्रेन के खिलाफ अपने अटैक को मजबूत करने के लिए अंतिम एकादश में दो बदलाव किए। उन्होंने मार्को आर्नातोविक को जगह दी, जो टीम के आक्रमण की अगुआई कर रहे थे।

वहीं, यूक्रेन ने अंतिम एकादश में दो बदलाव किए। आस्टि्रया की टीम मैच की शुरुआत से ही आक्रामक अंदाज में खेली। टीम के खिलाड़ी ज्यादातर समय पहले हाफ में यूक्रेन के गोल पोस्ट पर डेरा जमाए हुए थे। इसका फायदा टीम को 21वें मिनट में गोल के रूप में मिला। आस्टि्रया के डेविड अलाबा ने कार्नर किक से गेंद यूक्रेन के गोल पोस्ट की ओर भेजी और वहां खड़े क्रिस्टोफ बामगार्टनर ने इसे गोल पोस्ट में पहुंचाने में कोई गलती नहीं की। इसके बाद क्रिस्टोफ मैदान पर चोटिल हो गए और कोच फोडा ने उन्हें मैदान से वापस बुला लिया। फिर 42वें मिनट में ऑस्ट्रिया के पास गोल करने का अच्छा मौका बना था, लेकिन इस बार टीम इसका फायदा नहीं उठा पाई।

मार्को आर्नातोविक ने बाक्स के अंदर से गेंद को गोल पोस्ट की ओर भेजा, लेकिन गेंद पोस्ट के अंदर नहीं जा पाई। पहले हाफ में आस्टि्रया 1-0 से आगे रहा। दूसरे हाफ में यूक्रेन की टीम मैच में वापसी करने के मौके बनाती रही, लेकिन वे इनका फायदा नहीं उठा पाई। यूक्रेन दूसरे हाफ में आस्टि्रया के डिफेंस में सेंध नहीं लगा पाया और इसका खामियाजा टीम को हार के रूप में चुकाना पड़ा।