शरद पवार ने बुलाई विपक्षी दलों की आज बैठक, तीसरा मोर्चा बनाने की कवायद तेज

Spread the love

 नई दिल्ली 
संसद के मानसून सत्र से पहले तीसरे मोर्चे की कवायद तेज हो गई है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने मंगलवार शाम को विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है। बैठक में तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल और आम आदमी पार्टी सहित कई अन्य पार्टियों के नेताओं को भी आमंत्रित किया गया है। शरद पवार ने विपक्षी दलों की बैठक बुलाने का फैसला चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मुलाकात के बाद किया है। प्रशांत ने सोमवार को राजधानी दिल्ली में शरद पवार से मुलाकात की थी। दस दिन में प्रशांत की पवार से यह दूसरी मुलाकात थी। विपक्षी दलों की बैठक राष्ट्र मंच की बैनर के तले होने की उम्मीद है। राष्ट्र मंच का गठन पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने 2018 में किया था। इस मंच का मकसद केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ आवाज उठाना था। पर पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान यशवंत सिन्हा तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे। पवार के घर पर होने वाली विपक्षी नेताओं की बैठक इसी बैनर के तहत होगी।

एनसीपी प्रमुख के घर पर होने वाली बैठक में कांग्रेस के किसी नेता के शामिल होने की उम्मीद नहीं है। हालांकि, यशवंत सिन्हा के राष्ट्र मंच के कार्यक्रमों में कांग्रेस के कई नेता शामिल होते रहे हैं। एनसीपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि बैठक में तीसरे मोर्चे के गठन करने की संभावनाओं पर विचार किया जा सकता है। दिल्ली में सोमवार को पवार की राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ हुई बैठक के मुद्दे पर मलिक ने यह बात कही। पवार के दिल्ली आवास पर हुई यह मुलाकात एनसीपी की मंगलवार को होने जा रही राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक से पहले हुई है। इस बारे में पूछे जाने पर मलिक ने कहा, ‘पवार सभी विपक्षी नेताओं को एकजुट करने के लिए काम कर रहे हैं। हो सकता है कि बैठक इसी मुद्दे पर हुई हो। इससे पहले, पवार और किशोर के बीच 11 जून को एनसीपी प्रमुख के मुंबई स्थित आवास पर लगभग तीन घंटे तक बैठक हुई थी। किशोर ने पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव में क्रमश: तृणमूल कांग्रेस और द्रमुक के लिए चुनावी रणनीति बनाने में मदद की थी। 

पिछले महीने आए चुनाव परिणाम में इन दोनों दलों को अपने-अपने राज्य में जीत मिली थी। इसके बाद, किशोर ने कहा था कि वह अब आगे से किसी दल के लिए चुनावी रणनीति बनाने का काम नहीं करेंगे। भाजपा का मुकाबला करने के लिए तीसरा मोर्चा के गठन की संभावना के बारे में अटकलों के जोर पकड़ने के बीच इस महीने इन दोनों की यह दूसरी मुलाकात है। सूत्रों ने बताया कि किशोर और पवार के बीच एनसीपी प्रमुख के आवास पर बंद कमरे में बातचीत हुई तथा यह करीब डेढ़ घंटे चली।