आंचल की मौत के बाद दो खानदानों की जंग में बारूद बनीं ऑडियो क्लिप

Spread the love

कानपुर  
कानपुर के अशोक नगर में बीते शुक्रवार को देर रात एक मसाला कारोबारी की पत्नी की संदिग्ध हालातों में मौत हो गई थी। उसका शव कमरे के अटैच बाथरूम में लगे पंखे के कुंडे से फंदे पर लटका मिला था। पहले से चल रहे विवादों के बीच संदिग्ध परिस्थितियों के मद्देनज़र मायके वाले जब रात में बेटी के ससुराल पहुंचे तो घटना सामने आई। मायके वालों ने हत्या का आरोप लगाया है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आत्महत्या की आशंका जताई गई है। पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपित पति सूर्यांश, मां निशा खरबंदा को गिरफ्तार कर लिया है। नौकरानी से पूछताछ में पुलिस के सामने खुलासा हुआ है कि वह 19 नवम्बर को सुबह से परेशान थी। लगातार फोन कर रही थी मगर बात नहीं हो रही थी। ऐसी सम्भावना व्यक्त की जा रही है कि वह पति और उसके परिवार वालों को फोन कर रही थी।

इस बीच आंचल के मायके वालों और सूर्यांश के परिवार के बीच हुई शुरू हुई जंग में ऑडियो-वीडियो बारूद की तरह इस्तेमाल हो रहे हैं। इन्‍हें देख-सुनकर साफ हो रहा है कि उड़ान की तो सीमाएं होती हैं, पतन की कोई हद नहीं होती। इनमें भाषा का संयम, सामाजिक चिंता… सिरे से गायब है। कोई नहीं जानता ये कहां से आ रहे हैं? क्यों वायरल किए जहा रहे हैं? बस अचानक रोज कुछ नई क्लिप शहर की फिजा में तैरने लगती हैं। बुधवार को ऐसी दो क्लिप वायरल हुईं। कहा जा रहा है कि इनका ताल्लुक आंचल कांड से है। इसमें भी एक स्त्री स्वर है, दूसरा पुरुष स्वर। दोनों आपस में पिता-पुत्री बताए जाते हैं। लेकिन बातों का स्तर इसमें संदेह पैदा करता है। लोग सवाल कर रहे हैं कि क्या कोई पिता-पुत्री ऐसे बात कर सकते हैं? गालियों वाले इन ऑडियो को पुलिस ने जांच में शामिल कर लिया है। हिन्दुस्तान इन ऑडियो की पुष्टि नहीं करता।