इस कोविद वैक्सीन के स्कैम से रहे सावधान

Spread the love

 सरकार ने 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के नागरिकों के लिए COVID 19 Vaccine की थर्ड Corona Booster Doze देना शुरू कर दिया है। कोरोना के Omicron Variant के संक्रमण में अचानक वृद्धि के कारण इसकी जरूरत ज्यादा बढ़ गई है। ऐसे में लोग बूस्टर डोज पाने की जल्दी में हैं और धोखेबाजी का शिकार हो रहे हैं। नए स्कैम में साइबर क्रिमिनल बूस्टर वैक्सीन की जानकारी देने के बहाने लोगों की निजी जानकारी चोरी कर रहे हैं। इन डिटेल्स का इस्तेमाल बाद में पीड़ितों के बैंक अकाउंट से पैसे निकालने के लिए भी किया जा रहा है।

COVID 19 Booster Doze Scam

साइबर क्रिमिनल सबसे पहले तो लोगों को फोन करते हैं और फिर खुद को सरकारी कर्मचारी के तौर पर बताते हैं। क्रिमिनल अधिकतर सीनियर सिटीजन को ही कॉल करते हैं। उसके बाद उनसे पूछते हैं कि क्या उन्होंने दो बार वैक्सीन लगवाई है। कई स्थितियों में कॉलर के पास पहले से ही यूजर की सारी जानकारी होती है। फिर वह कंफर्म करने के लिए उनका नाम, उम्र, पता और अन्य डिटेल्स को भी पूछते हैं। कई बार फ्रॉड असली प्रतीत होने के लिए वैक्सीनेशन की तारीख भी बता देते हैं।

उसके बाद कॉलर आपसे पूछते हैं कि क्या आप कोविड-19 वैक्सीन बूस्टर डोज लेना चाहते हैं। क्या आप इसके लिए स्लॉट बुक करना चाहते हैं। डोज के लिए सही तारीख और समय को कंफर्म करने के बाद साइबर क्रिमिनल आपके मोबाइल पर मिलने वाले OTP के बारे में पूछते हैं। उसके बाद से ही सही फ्रॉड की शुरुआत होती है। वास्तव में OTP आपके बैंक अकाउंट से पैसा ट्रांसफर करने के लिए किया गया होता है। जब आप उन्हें OTP की जानकारी दे देते हैं तो आपके बैंक अकाउंट से पैसे ट्रांसफर हो जाता है।

इस घोटाले का शिकार न होने के लिए उठाएं ये कदम

आपको हमेशा यह बात ध्यान में रखनी चाहिए कि सरकार फोन कॉल के जरिए वैक्सीन स्लॉट बुक नहीं करवाती है। अगर आप कोविड-19 वैक्सीन के लिए स्लॉट बुक करना चाहते हैं तो आपको http://cowin.gov.in पर जाना चाहिए। इसके अलावा आप Arogya Setu ऐप के जरिए भी यह कर सकते हैं। अगर आप एक स्लॉट बुक नहीं कर पा रहे हैं तो आप सरकारी द्वारा जारी किसी भी पहचान पत्र के साथ वैक्सीनेशन सेंटर में जाकर अपनी डोज ले सकते हैं।

आपको हमेशा उस मैसेज से बचना चाहिए जो कि ओटीपी के साथ है। आपको हमेशा OTP वाले मैसेज को पढ़ना चाहिए। अगर आप यह नहीं कर सकते हैं तो अपने परिवार के किसी समझदार व्यक्ति से ऐसा करवा सकते हैं। इससे पता चलता है कि यह किस कोड के लिए इस्तेमाल होना है। साथ ही आपको ओटीपी किसी के साथ भी साझा नहीं करना चाहिए।