BJP मंत्री-विधायकों की भगदड़ पर बोली- 5 साल तक खाते रहे मलाई; टिकट कटने के डर से भागे

Spread the love

लखनऊ
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बीजेपी से नाता तोड़ने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद पार्टी को और कई झटके लगे हैं।  स्वामी प्रसाद मौर्य सहित अन्य बड़े मंत्रियों और विधायकों के पार्टी छोड़ने के बाद योगी सरकार में मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इन विधायकों के बीजेपी छोड़ने के कई कारण हैं, कुछ अपने निजी फायदे के लिए जा रहे हैं, दूसरों को डर है कि उन्हें अपनी पसंद के निर्वाचन क्षेत्र से टिकट नहीं मिलेगा..लोगो ने 5 साल तक बीजेपी के साथ रहकर मलाई काने का काम किया है। उन्होंने कहा कि राज्य में ओबीसी और दलितों को गुमराह किया जा रहा है। उन्हें (भाजपा छोड़ने वाले विधायक) सपा द्वारा ओबीसी और दलितों के लिए 10 कल्याणकारी योजनाओं की सूची दें। सपा केवल मुसलमानों और यादवों के लिए काम करती है। मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि अन्य ओबीसी समुदाय कभी भी एमवाई में शामिल नहीं होंगे।

उन्होंने कहा कि भाजपा जनता से फीडबैक लेकर टिकट देती और काटती है, जब आपको पता चलता है तो आप भागोगे। अखिलेश जी के यहां तो दरवाजे खुले हुए हैं, सबको भर्ती कर लो, हमें कोई ऐतराज नहीं है। परिणाम वो ही आएगा 300 पार। बता दें कि अब तक बीजेपी के तीन मंत्रियों समेत 14 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं।  वहीं, बागी विधायकों का कहना है कि ये सिलसिला अभी कुछ और दिन जारी रहेगा।  इस्तीफा देने वाले विधायकों में से चार विधायक पहले ही समाजवादी पार्टी का हाथ थम चुके हैं।  जबकि तीन मंत्री और छह विधायक आज लखनऊ में सपा में शामिल होंगे।