कोरोना संक्रमितों के लिये होम आयसोलेशन के पुख्ता प्रबंध करें – मुख्यमंत्री चौहान

Spread the love

भोपाल
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि होम आयसोलेशन व्यवस्था से जुड़े सभी कार्यों पर प्रशासनिक अधिकारी, चिकित्सक, जन-प्रतिनिधि और सजग नागरिक नजर रखें। कोविड केयर सेंटर और घरों पर होम आयसोलेशन में रह कर उपचार ले रहे रोगियों से नियमित संवाद भी किया जाए। चिकित्सकों द्वारा इन रोगियों को उपचार के साथ ही आवश्यक मार्गदर्शन देने का कार्य भी किया जाए। मुख्यमंत्री चौहान आज मंत्रालय से होम आयसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमितों से वर्चुअली संवाद कर रहे थे। सांसद रमाकांत भार्गव भी वर्चुअली उपस्थित थे।

संवाद से बढ़ता है मनोबल: मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में होम आइसोलेशन व्यवस्था का लाभ ले रहे कोरोना संक्रमित नागरिकों से चर्चा आवश्यक है। इनसे संवाद कर उनका मनोबल बढ़ाएं। मुख्यमंत्री चौहान ने आज पंकज अरोड़ा, रवि डुमरा, सुश्री प्रतीक्षा शर्मा, जगराव भादे, मुकेश और सुरेश मूरत से चर्चा कर स्वयं भी उनका मनोबल बढ़ाया। आयसोलेट व्यक्तियों को नि:शुल्क मेडिकल किट उपलब्ध कराई जा रही है। पूरे प्रदेश में ऐसी व्यवस्था के लिए निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने सभी को शीघ्र पूर्ण स्वस्थ होने के लिए शुभकामनाएँ दीं। मुख्यमंत्री ने सभी नागरिकों से कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करने का भी आग्रह किया।

फिट रहने और इम्युनिटी बढ़ाने में उपयोगी है अनुलोम-विलोम
मुख्यमंत्री चौहान ने योग, प्राणायाम, अनुलोम-विलोम का महत्व बताते हुए डिमांस्ट्रेशन द्वारा अनुलोम- विलोम और प्राणायाम की विधियाँ समझाईं। मुख्यमंत्री ने कहा कि चिंतित न हों, उपचार का लाभ प्राप्त करें। दूरभाष पर चिकित्सक द्वारा मार्गदर्शन उपलब्ध है। कोई भी समस्या होने पर स्वयं भी चिकित्सक से और अधिकारियों से सम्पर्क कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने आयसोलेट नागरिकों को समय का बेहतर उपयोग करने के लिए अच्छा साहित्य पढ़ने और सकारात्मक रहने की समझाइश भी दी। मुख्यमंत्री ने पॉजिटिव प्रकरण वाले परिवारों के अन्य सदस्यों को पृथक कक्ष में निवास करने या स्थानाभाव होने पर कोविड केयर सेंटर में जाकर आयसोलेट होने एवं संक्रमण से बचकर स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने का आग्रह किया। उन्होंने स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े एवं संबंधित कलेक्टर से होम आइसोलेट रोगियों की देख-रेख की जानकारी प्राप्त की।