रणजी ट्रॉफी फाइनल पहले दिन मुंबई की आधी टीम पवेलियन लौटी

Spread the love

भोपाल

रणजी ट्रॉफी के फाइनल में 23 साल बाद इतिहास रचने उतरी मध्यप्रदेश क्रिकेट टीम के सामने पहले दिन मुंबई ने 5 विकेट गंवाकर 248 रन बनाए। मध्यप्रदेश के लिए सारांश जैन और अनुभव अग्रवाल ने 2-2 विकेट लिए। कार्तिकेय सिंह को भी एक विकेट मिला। मुंबई के लिए सबसे ज्यादा 78 रन यशस्वी जायसवाल ने बनाए। अपनी पारी में उन्होंने 7 चौके और 1 सिक्स भी लगाया। उन्हें यश दुबे के हाथों अनुभव अग्रवाल ने आउट कराया।

इससे पहले बेंगलुरु में खेले जा रहे रणजी फाइनल में 41 बार की चैम्पियन मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया। मुंबई की ओर से पहले विकेट के लिए कप्तान पृथ्वी शॉ ने यशस्वी जयसवाल के साथ मिलकर 87 रन जोड़े। पृथ्वी ने 5 चौके और 1 छक्के की मदद से 47 रन बनाए। अनुभव ने पृथ्वी को बोल्ड कर अर्धशतक बनाने से रोक दिया।

इसके बाद यशस्वी ने अरमान के साथ दूसरे विकेट के लिए 33 रन जोड़े। अरमान 26 रन पर कार्तिकेय का शिकार बने। एक तरफ यशस्वी क्रीज पर जमकर खेल रहे थे, हालांकि उन्हें दूसरे छोर से बल्लेबाजों का साथ नहीं मिला। दिन का खेल खत्म होने तक मुंबई ने 90 ओवर में 5 विकेट गंवाकर 248 रन बना लिए थे। टीम के लिए अरमान जाफर (26), सुवेद पारकर (18) और हार्दिक तमोरे (24) ने छोटी-छोटी पारिया खेलीं। फिलहाल एसएन खान (40*) और एसजेड मुलानी (12*) क्रीज पर हैं।