मप्र त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव:ग्राम सरकार गठन के लिए पहले दौर का मतदान शनिवार को

Spread the love

भोपाल
प्रदेश में जारी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान शनिवार को होगा।   वोटिंग सुबह सात बजे शुरू होकर अपरान्ह तीन बजे तक होगी। इसके तत्काल बाद मतगणना शुरू होगी,लेकिन इसके परिणाम फिलहाल घोषित नहीं होंगे। चुनाव मतपत्रों के जरिए होगा। इसके चलते संबंधित स्थानों पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा तय कार्यक्रम अनुसार, पहले चरण में, प्रदेश की 115 जनपद एवं इनके अंतर्गत आने वाली 8702 ग्राम पंचायतों के लिए निर्वाचन होगा। मतदान सुबह सात बजे शुरू होगा एवं अपरान्ह तीन बजे तक जारी रहेगा। पहले चरण के चुनाव के लिए संबंधित जनपद क्षेत्रों में 27 हजार 49 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें एक करोड़ 49 लाख 23हजार 165 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे।

भोपाल सहित 5 जिलों में आज ही पूरे होंगे चुनाव
अधिकांश शहरी क्षेत्र वाले पांच जिले ऐसे हैं जहां कल ही चुनाव पूरे हो जाएंगे,इनमें भोपाल,इंदौर,ग्वालियर,नरसिंहपुर व हरदा शामिल हैं। वहीं, 8 जिलों में दो चरणों में मदतान होगा। इसमें झाबुआ, बुरहानपुर, दतिया, जबलपुर, देवास, निवाड़ी, पन्ना और उमरिया जिला शामिल है। बाकी के 39 जिलों में तीन चरणों में मतदान होगा। दूसरे चरण का मतदान एक जुलाई तो तीसरे चरण का 8 जुलाई को होगा।

चार रंगों में मिलेंगे मतपत्र
तीनों ही स्तर की पंचायतों के लिए चुनाव मतपत्र व मतपेटियों से होगा। इसके लिए चार अलग-अलग प्रकार के  मतपत्र मतदाताओं को मिलेंगे। इनमें पंच पद के लिए सफेद, सरपंच के लिए नीला, जनपद पंचायत सदस्य के लिए पीला और जिला पंचायत सदस्य के लिए गुलाबी रंग का मतपत्र होगा। प्रत्येक मतदाता पंच, सरपंच, जनपद और जिला पंचायत सदस्य के लिए मतदान करेगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने इसके लिए 23 प्रकार के पहचान पत्र तय किए हैं। इनमें से कोई एक पहचान पत्र दिखाने पर ही मतदाता को मतदान का अधिकार होगा।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम
चुनाव के लिए मतदान दल आज शाम संबंधित मतदान केंद्रों के लिए रवाना हुए।  मतदान पेटी सहित अन्य मतदान सामग्री की पूरी व्यवस्था जिलों में कर ली गई है। संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर पुलिस के साथ-साथ सशस्त्र बल के जवान तैनात रहेंगे। भोपाल जिले केे  ही 575 केंद्रों में से 21 केंद्रों को अतिसंवेदनशील के तौर पर चिन्हित किया है। इनमें आठ फं दा और 13 बैरसिया के मतदान केंद्र शामिल हैं।

जबकि फं दा में 15 संवेदनशील और 243 सामान्य एवं बैरसिया में 91 संवेदनशील और 205 सामान्य केंद्र हैं। जिला प्रशासन द्वारा ढाई लाख से अधिक लाइसेंसी हथियार पहले ही जमा कराए जा चुके हैं। वहीं एक हजार से अधिक गैर लाइसेंसी हथियार जब्त भी किए गए। इनके अलावा 1.36 लाख व्यक्तियों के विरुद्ध प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की गई। राज्य निर्वाचन आयोग ने मतदान केंद्रों पर गड़बड़ी करने वालों से सख्ती से निपटने के निर्देश सभी जिला कलेक्टरों को दिए हैं।

मतगणना भी आज ही,परिणाम 14 को
मतदान के ठीक बाद मतदान केंद्र स्तर पर होने वाली मतगणना प्रारंभ होगी। वहीं, विकासखंड मुख्यालय स्तर पर होने वाली मतगणना 28 जून को सुबह आठ बजे से होगी, लेकिन परिणामों की घोषणा नहीं की जाएगी। पहले, दूसरे और तीसरे चरण के पंच, सरपंच और जनपद पंचायत सदस्य के चुनाव परिणाम की घोषणा एक साथ 14 जुलाई को होगी। जबकि, जिला पंचायत सदस्य के चुनाव परिणाम 15 जुलाई को घोषित किए जाएंगे।