हाथरस: दो माह में दूर नहीं हुआ बिजली संकट, सभी परेशान

Spread the love

हाथरस
जिले में बिजली संकट दो माह से बना हुआ है। गुरुवार की रात को अचानक बिजली गुल हो गई। जो फिर दूसरे दिन सुबह आठ बजे आई। इसके चलते लोग पानी तक के लिए तरस गए। शहर में 14 घंटे व देहात में नौ घंटे से अधिक बिजली नहीं रही है। इसके चलते सबसे अधिक परेशानी लोगों को बिजली की अघोषित कटौती के चलते हो रही हैं।

गर्मी में परेशान कर रही बिजली
जिले में बिजली आपूर्ति की समस्या लगातार बनी हुई है। गर्मी का मौसम मार्च में ही शुरू हो गया था। अप्रैल में तो भीषण गर्मी ने सभी को परेशान कर दिया। इसी माह भार बढ़ने से फाल्ट भी होने लगे। मई में आंधी व बारिश के चलते फाल्ट की संख्या बढ़ गई। कहीं ट्रांसफार्मर फुंकने लगे तो कहीं बंच केबल जलने से बिजली की समस्या बनी रही। उधर भीषण गर्मी लोगों को परेशान कर रही ही। बिजली के नखरों ने दिक्कतें और बढ़ा रखी हैं।

मुसीबत बनी बिजली की अघोषित कटौती
अब बिजली की अघोषित कटौती ने लोगों को परेशान कर रखा है। शहर में 24 में से 14, कस्बा में 20 में से 11 घंटे व गांव में 18 में नौ घंटे ही आपूर्ति मिल रही है। उसमें घंटे दो घंटे बाद हो रही कटौती सबसे बड़ी समस्या बनी हुई है। इसके उद्योग धंधे भी ठप होने लगे हैं। आखिर महंगे डीजल से कितने दिन व्यवसाय चल सकता है। वहीं सिंचाई नहीं होने से किसानों की फसलें सूख रही हैं।

फाल्ट के चलते आठ घंटे झेला विद्युत संकट
वाटर वक्र्स फीडर से जुड़े आदर्श नगर 11 केवीए फीडर की डिस्क फाल्ट होने से फुंक गई। इसके चलते गुरुवार की रात करीब 12 बजे बिजली गुल हो गई। उसके बाद करीब आठ बजे के बाद बिजली आपूर्ति सुचारू हुई। इससे मंडी समिति, महादेवनगर, नगला अलगर्जी सहित 20 इलाकों की बिजली गुल रही। पानी तक को लोग परेशान रहे। एसडीओ ने बताया कि डिस्क को बदलवाकर आपूर्ति ठीक करा दी है।