भारत के खिलाफ परमाणु हमले की तैयारी में था पाकिस्तान- माइक पोम्पिओ

Spread the love

वॉशिंगटन
अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने अपनी किताब में कई चौंकाने वाले दावे किए हैं। उन्होंने कहा कि 2019 में भारत और पाकिस्तान एक-दूसरे पर 'परमाणु हमले' की तैयारी कर रहे थे। पोम्पियो ने दावा किया है कि वह अपनी तत्कालीन भारतीय समकक्ष सुषमा स्वराज से बात करने के लिए नींद से जागे थे। सुषमा स्वराज ने उन्हें बताया था कि पाकिस्तान फरवरी 2019 में बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के बाद परमाणु हमले की तैयारी कर रहा है और भारत अपनी जवाबी कार्रवाई की तैयारी कर रहा है।

पोम्पियो ने मंगलवार को बाजार में आई अपनी नई किताब 'नेवर गिव एन इंच: फाइटिंग फॉर द अमेरिका आई लव' में कहा कि यह घटना तब हुई जब वह 27-28 फरवरी को अमेरिका-उत्तर कोरिया शिखर सम्मेलन के लिए हनोई में थे। उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने इस संकट को टालने के लिए भारत और पाकिस्तान दोनों के साथ पूरी रात काम किया। पोम्पिओ अपनी किताब में लिखते हैं, 'मुझे नहीं लगता कि दुनिया ठीक से जानती है कि फरवरी 2019 में भारत-पाकिस्तान की प्रतिद्वंद्विता किस कदर परमाणु हमले के करीब पहुंच गई थी।'

'मैं उस रात को कभी नहीं भूलूंगा'
उन्होंने कहा कि सच तो यह है कि मुझे इसका ठीक-ठीक जवाब भी नहीं पता है, मुझे बस इतना पता है कि यह बहुत करीब था। भारत के लड़ाकू विमानों ने पुलवामा आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवानों की शहादत के जवाब में फरवरी 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को तबाह कर दिया था। पोम्पिओ ने कहा, 'मैं उस रात को कभी नहीं भूलूंगा जब मैं हनोई, वियतनाम में था।'

अमेरिका ने सब कुछ ठीक करने के लिए मांगा वक्त
उन्होंने कहा कि परमाणु हथियारों पर उत्तर कोरियाई लोगों के साथ बातचीत करना पर्याप्त नहीं था मानो वैसे ही भारत और पाकिस्तान ने उत्तरी सीमा पर कश्मीर क्षेत्र को लेकर दशकों से जारी विवाद के संबंध में एक-दूसरे को धमकाना शुरू कर दिया। उन्होंने लिखा, 'हनोई में मैं अपने भारतीय समकक्ष के साथ बात करने के लिए जागा था। उनका मानना था कि पाकिस्तानियों ने हमले के लिए अपने परमाणु हथियार तैयार करना शुरू कर दिया है। उन्होंने मुझे सूचित किया कि भारत अपने जवाबी कार्रवाई पर विचार कर रहा है। मैंने उनसे कुछ नहीं करने और सबकुछ ठीक करने के लिए हमें थोड़ा वक्त देने के लिए कहा।'