लिडार के सर्वे के बाद बैतूल में लिए तीसरी रेल लाइन का काम शुरू

Spread the love

बैतूल
बैतूल में माल भाड़े के लिए तीसरी रेल लाइन बिछाने का प्रोजेक्ट रेल मंत्रालय ने शुरू कर दिया है। इसके लिए सर्वे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। सोमवार को हैदराबाद की कंपनी ने बैतूल पहुंचकर इसका लिडार सर्वे किया है, जिसके बाद इसकी विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाई जाएगी।

रेल मंत्रालय ने विजयवाड़ा से इटारसी तक 950 किमी लंबा डेडीकेटेड फ्रेंड कॉरिडोर बनाना तय किया है। यह कॉरिडोर पैसेंजर ट्रैक से अलग होगा। तीसरी रेल लाइन से सिर्फ मालवाहक गाड़ियां ही निकलेगी। इस कॉरिडोर के सर्वे के लिए हैदराबाद की कंपनी RB एसोसिएट्स को प्रोजेक्ट दिया गया है। कंपनी ने सोमवार को हेलीकॉप्टर के जरिए इस कॉरिडोर का सर्वे किया।

कंपनी के इंजीनियर विधेश कुमार सिंह ने बताया कि रेल मंत्रालय का यह मुख्य प्रोजेक्ट है। जिसके तहत अलग से ट्रैक बिछाया जाना है। जो पैसेंजर ट्रैक से अलग होगा। इसके लिए हैदराबाद की सर्वे टीम को यह सर्वे कार्य दिया गया है। कम्पनी ने कॉरिडोर के लिए विजयवाड़ा से इटारसी तक लिडार सर्वे शुरू किया है। हेलीकाप्टर पर लगे लिडार बॉक्स के जरिए भूमिगत सर्वे किया जा रहा है, सर्वे के बाद डेटा इकट्ठा कर डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाई जाएगी। यह रिपोर्ट रेल मंत्रालय को सौंपी जाना है। इस रिपोर्ट के बाद ही नया ट्रैक बन सकेगा।

बता दें, DFC (डेडीकेटेड फ्रेंड कॉरिडोर) बनाने के लिए दिल्ली स्थित निगम कार्य कर रहा है, जो दिल्ली से हैदराबाद तक बनने वाली तीसरी लाइन का सर्वे कर रहा है। मालवाहक गाड़ियों के लिए बनने वाले इस कॉरिडोर के बन जाने से यात्री गाड़ियों की गति बढ़ जाएगी।